Pyar ya career | प्यार और करियर 2022


लव v/s करियर (Pyar ya career) हमें अपने जीवन में खुश रहने के लिए प्यार और करियर दोनों की जरूरत पड़ती है ।प्यार हमारी जिंदगी में रंग भरता है और करियर हमें जीवन को एक मुकाम पर ले जाता है लेकिन कई बार तो हमारे आपसी रिश्तो के तालमेल को बैठाना मुश्किल हो जाता है क्योंकि यदि हम करियर में ज्यादा फोकस करने लगेंगे तो हम रिश्तो को समय नहीं दे पाते हैं। जिसके कारण हमारी लाइफ में झगड़े शुरू हो जाते हैं, और झगड़े की वजह से हमारे रिश्ते में खटास आने लगती है।हमें अपने लाइफ पार्टनर के साथ हमेशा दोस्त बनकर रहना चाहिए ताकि हम किसी भी रिश्ते को बेहतर तरीके से समझ सके । जब हम कोई रिश्ता बनाते है , तो सबसे पहले शुरूआत दोस्ती से करनी चाहिए जिससे कि हम एक दूसरे के साथ अपनी बातें शेयर कर सकें।


लव v/s करियर (Pyar ya career) हमें अपने जीवन में खुश रहने के लिए प्यार और करियर दोनों की जरूरत पड़ती है ।प्यार हमारी जिंदगी में रंग भरता है और करियर हमें जीवन को एक मुकाम पर ले जाता है लेकिन कई बार तो हमारे आपसी रिश्तो के तालमेल को बैठाना मुश्किल हो जाता है क्योंकि यदि हम करियर में ज्यादा फोकस करने लगेंगे तो हम रिश्तो को समय नहीं दे पाते हैं। जिसके कारण हमारी लाइफ में झगड़े शुरू हो जाते हैं, और झगड़े की वजह से हमारे रिश्ते में खटास आने लगती है।हमें अपने लाइफ पार्टनर के साथ हमेशा दोस्त बनकर रहना चाहिए ताकि हम किसी भी रिश्ते को बेहतर तरीके से समझ सके । जब हम कोई रिश्ता बनाते है , तो सबसे पहले शुरूआत दोस्ती से करनी चाहिए जिससे कि हम एक दूसरे के साथ अपनी बातें शेयर कर सकें।

Pyar ya career
Pyar ya career


शादी के बाद तो हमारी लाइफ और करियर दोनों का बैलेंस कर पाना बहुत ही मुश्किल हो जाता है । इसके लिए आपके पार्टनर और आपके बीच अच्छी बॉन्डिंग का होना बहुत ही जरूरी है । जब आपके और आपके पार्टनर के बीच अच्छी बॉन्डिंग रहेगी तभी आप दोनों एक दूसरे की परेशानी को समझ सकेंगे। आजकल के समय में लड़की या लड़का दोनों ही अपने करियर को लेकर काफी सोचते है वह करियर के लिए कुछ भी छोड़ने को तैयार हो जाते है जैसे जितना जरूरी उनका करियर होता है उतना ही जरूरी उनका पारिवारिक जीवन भी हो जाता है ।

अगर हमें अपने परिवार और करियर के बीच तालमेल बनाकर रखना है तो हमें अपने काम के समय यह सोचना जरूरी है कि हम अपने काम को समय पर खत्म करे और बाद में अपने पार्टनर और परिवार के साथ थोड़ा समय बिताए । आप अपने रिश्तो में कभी भी दूरी न आने दे क्योंकि यह आपके बीच झगड़े का कारण बन सकते हैं । झगड़े इसीलिए होते हैं क्योंकि हम आपस में ज्यादा बातचीत नहीं करते हैं और एक दूसरे के साथ ज्यादा टाइम स्पेंड नहीं कर पाते हैं । हमेशा ये सोचते रहते है कि हमारे बीच में झगड़े क्यों हो रहे है? जब हम एक दूसरे से बातचीत नहीं करेंगे तो तब हम अपने रिश्तो में गलत फहमी पैदा कर देते हैं । दोस्तों कई बार तो ऐसा होता है कि आपके ऑफिस में किसी के साथ बहस बाजी हो जाती है

Pyar ya career
Pyar ya career

जिसकी वजह से हमारा मूड ऑफ हो जाता है और तब हम उसी टाइम अपने घर वापस आते हैं और जब हम घर वापस आते हैं तो हम अपने ऑफिस का गुस्सा अपने पार्टनर पर उतार देते हैं। हमें कभी भी ऐसा नहीं करना चाहिए याद रखिए कि हमारा पार्टनर भी तो काम करता है उसे भी तो थकान होती होगी, आपको अपने ऑफिस का गुस्सा अपने पार्टनर में उतारने से सिर्फ आप दोनों के बीच में झगड़ा पैदा कर करता है।
पति पत्नी का रिश्ता हमेशा बराबरी का होना चाहिए जैसे आपको अपने घर के फैसले लेने का जितना अधिकार होता है उतना ही अधिकार आपके पार्टनर का भी होना जरूरी है। घर परिवार या जीवन से जुड़ा कोई भी फैसला पति पत्नी को आपस में मिलजुल कर लेना चाहिए।

1. करियर और प्यार के बीच किसे चुने

दोस्तों मेरे हिसाब से तो हमारे लिए दोनों ही जरूरी है हमारी जिंदगी में प्यार का भी होना जरूरी है और हमारे करियर का भी होना जरूरी होता है। इन दोनों का ही हमारे जीवन में महत्वपूर्ण स्थान है यदि आप अपने प्यार को पाने के लिए अपने करियर को दांव पर लगाते हैं तो तब शायद आप यह बात भूल जाते हैं कि हमारी जिंदगी में प्यार तो कभी भी कर सकते हैं लेकिन हमारा करियर एक बार छूट जाएगा तो फिर उसे सवारना बहुत ही मुश्किल पड़ जाता है।हमारी जिंदगी में प्यार का भी होना बहुत ही जरूरी होता है लेकिन सबसे पहले हमें अपने करियर पर ध्यान देना जरुरी है।

2. सच्चा प्यार मिलना बहुत ही मुश्किल

दुनिया में प्यार तो सभी करते हैं पर सच्चा प्यार करने वाले 95% लोग ऐसे होते है जिन्हें सच्चा प्यार करने वाले मिलते हैं और 80% लोग तो ऐसे होते हैं जिन्हें सच्चा प्यार मिल पाना बहुत ही आसान नहीं होता है आजकल तो जितनी जल्दी लोगों के रिश्ते बनते हैं उतने ही जल्दी उनके रिश्ते टूट जाते हैं सच्चा प्यार वही होता है जिस पर हम खुद से भी ज्यादा भरोसा करने लगते हैं जिससे हम अपने सारे दुख सुख की बातें शेयर करते हैं । जो लोग सिर्फ अपने मतलब की बाते करते है उसे सच्चा प्यार नही कहते हैं।वह लोग हमेशा अपने फायदे के लिए दूसरों को इस्तेमाल करते हैं ।

3. दो प्यार करने वालों के बीच में किसी शर्त का ना होना

कहा जाता है कि जो लोग सच्चा प्यार करते हैं उन दो लोगों के बीच कोई शर्त नहीं होनी चाहिए । जो भी इंसान अपने प्यार को सच्चा साबित करने के लिए शर्त रखता है वह व्यक्ति आपसे सिर्फ टाइम पास कर रहा होता है । जब उस व्यक्ति का आपसे मन भर जाता है तो वह आपको खुद ब खुद छोड़ देता है ।इसीलिए दोस्तों अपने फैसले को थोड़ा सोच समझ कर लीजिए क्योंकि आज के समय में सच्चा प्यार मिलना मुश्किल है।

4. सच्चे प्यार की पहचान हम कैसे करें

सच्चे प्यार को पहचानना बहुत ही मुश्किल हो जाता है। जब कोई व्यक्ति आपसे सच्चा प्यार करने लगता है वह आपकी बुराइयां किसी से नहीं करता । दोस्त हम लोग कई बार ये सोचते है की हम सच्चे प्यार को कैसे पहचान सकते है ? दोस्तों सच्चा प्यार एकदम अलग होता है हमें सच्चे प्यार को पहचानने से पहले यह जानना जरूरी है कि प्यार क्या होता है ? और सच्चा प्यार किसे कहते हैं ?आजकल हर व्यक्ति जब भी प्यार करता है तो वह इंसान के शरीर को देखता है ,उसका फैशन देखता है ,और उसका पैसा देखता है इन सब को देख कर वह इंसान उससे प्यार करता है ।

निष्कर्ष

जो इंसान इन सब को देख कर प्यार करता है तो उसे प्यार नहीं कहते प्यार तो दिल से होता है जब हमें प्यार होता है तो दोस्तों हमें खुद ही नहीं पता चलता है कि हम उस व्यक्ति से प्यार करने लग गए हैं। हमें उस व्यक्ति की बातों को सुनने का मन करता हैं । हम उस व्यक्ति से बार बार मिलने का मन करता है या फिर उस व्यक्ति की बार-बार बातें करें, हम अपने दिलों दिमाग में उसे बैठा देते हैं । अगर जब कोई इंसान हमसे प्यार करता है तो उसे हमारी रंगरूप , जात , और फैशन आदि चीजों को देखता नही है ,प्यार तो बिना बताए हो जाता है।

अन्य पढ़े

Leave a Comment