हवाई जहाज का किराया महंगा क्यों होता है 2022 ?

Airport पर हवाई जहाज का किराया महंगा  होने के पीछे कई कारण हैं। Airlines आपको कभी नहीं बताएगी कि किराया  इतना अधिक क्यों होता है। हमने   निचे  दिए गए 8 पॉइंट  में  explain  किया हैं कि हवाई टिकट का किराया महंगा क्यों होता  है।  

Airport में  हवाई जहाज का किराया महंगा क्यों होता है ?

Airport पर हवाई जहाज का किराया महंगा  होने के पीछे कई कारण हैं। Airlines आपको कभी नहीं बताएगी कि किराया  इतना अधिक क्यों होता है। हमने   निचे  दिए गए 8 पॉइंट  में  explain  किया हैं कि हवाई टिकट का किराया महंगा क्यों होता  है।  

1.  विमान का Fuel

सबसे पहले विमान के Fuel की  खपत अदिकतर लोगों को लगता है कि यह जादू से चलता है लेकिन वास्तव में, सच्चाई यह है कि वे Jet Fuel का उपयोग करते हैं और यह Flight Ticket  के किराये  में सबसे महंगे कारणों में से एक होता है

विभिन् प्रकार के विमानों को एक निश्चित मात्रा में Fuel की आवश्यकता होती है। यह जानकारी आपको Airlines Indigo, AirIndia, Vistara  विमान के निर्माता की वेबसाइट पर आसानी से मिल सकती है, ताकि आपको पता चल सके कि विमान को कितना महंगा Fuel देना पड़ता है,

एक उदारण के लिए हम  यहां 10 घंटे की उड़ान के लिए एक साधारण Calculation करते है जो की 70 Ton Fuel  एक जंबो Jet लेता है। Fuel की लागत जो की  होती  है  बयालीस हजार पांच सौ डॉलर (42500 $) के आसपास है और इसी लिए Flight Ticket के किराए पर असर पड़ता है। और यह महंगा होने का एक महत्पूर्ण कारण  है। 

2.यात्रियों का सामान & services charge

हवाई जहाज का किराया  महंगा
हवाई जहाज का किराया  महंगा

Airlines द्वारा Food, water, blanket, इत्यादि उपलब्ध कराने के लिए बहुत सारे Services charges वसूल किए जाते हैं और यात्रियों के सामान  को उतरना और लोड करना  यह भी गिना जाता है। 

Airlines  की कॉल  सेंटर   और ग्राहक सेवा के लिए  काम करने में  बहुत पैसा खर्च होता है, और Takeoff safety  चेक और इतियादी सभी में हवाई जहाज का किराया महंगा होने  पर प्रभावशाली असर डालता  है। और यह महंगा होने का एक महत्पूर्ण कारण  है। 

3. विमान की Service

जहाज का किराया महंगा 1
हवाई जहाज का किराया महंगा

विमान को इंजीनियर द्वारा नियमित रूप से चेक-अप (check up) और रखरखाव की आवश्यकता होती है और विमान में बीमा (insurance) और मामूली मरम्मत की आवश्यकता होती है, इसमें दैनिक दिनचर्या में पेंटिंग और रखरखाव शामिल होता  है। इसलिए इसका Flight Ticket में कुछ प्रतिशत  किराए पर असर डालता  है।

4. Staff Salary

विमान में, Pilot, Cabin Crew, Ground Staff, और भिन प्रकार के  विभाग जैसे  इंजीनियर विभाग, सुरक्षा विभाग,(Security) और अन्य कर्मचारियों की तरह बहुत सारे Airlines कर्मचारी काम करते  है , और  कर्मचारियों को उनके कठिन परिश्रम के लिए Salary की आवश्यकता होती है। इसलिए यह Flight टिकट में कुछ प्रतिशत  किराए पर असर डालता  है।

5. Depreciation and leasing

उम्र बढ़ने और समय के कारण विमान की मूल्यह्रास (Depreciate) समय-समय पर होती रहती  है। इसी लिए विमान की वैल्यू कम होती रहती है। और साथ के साथ ये सभी खर्च, Owner द्वारा कवर किया जाता है। (Depreciate) कुछ प्रतिशत विमान के  किराए पर असर डालता  है।

अगर किसी विमान को किराए (leasing)पर लिया जाता है तो उसे aviation leasing के रूप में भी जाना जाता है और जो विमान का उपयोग करता है तो किराए leasing शुल्क लिया जाता है और यह Flight के Ticket  पर प्रभावित करता है।

6. पार्किंग Charges

जहाज का किराया महंगा..
हवाई जहाज का किराया महंगा

Airport पर  Airlines द्वारा विमान खड़ा करने के लिए Airport अथॉरिटी द्वारा  पार्किंग चार्ज लिया जाता  है। यह चार्ज भिनं एयरपोर्ट में अलग हो सकता है। पार्किंग Charges Airlines द्वारा देना विमान   का  टिकट पर प्रभाव डालता है। 

7. विज्ञापन और प्रशासनिक Cost

जहाज का किराया महंगा
हवाई जहाज का किराया महंगा

आप आसानी से देख सकते हैं कि Airlines विज्ञापन पर कितना  खर्च करती हैं और अपने प्रचार,(promotion) विज्ञापन पर खर्च करने के लिए Ticket का किराया पर प्रभाव आप आसानी से देख सकते है। 

8. Navigation Cost

जहाज का किराया महंगा 2
हवाई जहाज का किराया महंगा

Air Navigation Cost और मौसम संबंधी (metrology) सहायता  एयरोप्लेन  का  टिकट  पर प्रभाव  कर सकती है। आप यु कह सकते हो की एयरलाइन द्वारा यह सर्विसेज का इस्तेमाल करने के लिए एहने कुछ पैसे चुकाना पड़ते है। और इसीलिए एयरलाइन Flight Ticket का किराये पर असर आसानी से देख सकते है। 

ऊपर दिए गए 8 पॉइंट में मुख्य तौर पर हवाई जहाज का किराया महंगा  होने के पीछे की बजह है। में आशा करता हु की आप जान पाए होंगे   की एयरपोर्ट पर एयरोप्लेन का किराया क्यों महंगा होता है। 

अन्य पढ़े

Leave a Comment