bhoot wali kahani | भूत वाली कहानी 2022

bhoot wali kahani
bhoot wali kahani

bhoot wali kahani बहुत समय पहले की बात है एक गांव में रीना नाम की लड़की थी जो अपने भैया-भाभी के साथ रहती थी ।रीना के मां-बाप बचपन में ही गुजर गए थे इसीलिए रीना के भैया-भाभी उसको बहुत प्यार करते थे और उन्हें हमेशा ही रीना की शादी को लेकर बहुत चिंता रहती थी क्योंकि रीना अब जवान हो रही थी। एक दिन रीना और उसकी सहेली गांव के एक मेले में गए जहां रीना की नजर अचानक से एक व्यक्ति पर पड़ी जो बार बार उसे देख रहा था दरअसल वह व्यक्ति रीना की सुंदरता पर मोहित हो गया था। एक दिन वह व्यक्ति रीना के घर आ पहुंचा और उसने रीना के भैया-भाभी से उसके रिश्ते की बात कह दी। रीना के भैया-भाभी भी जल्द ही उस व्यक्ति को पसंद करने लगे उसका नाम जगन था और जल्दी ही रीना और जगन की शादी हो गई।

पांच बच्चों वाली भूतनी bhoot wali kahani

फिर कुछ दिनों बाद ही रीना और जगन अपने घर चले गए। शादी के बाद तीन-चार दिनों तक तो सबकुछ ठीक था लेकिन अचानक से रीना को लगा कि उस घर में कुछ गलत हो रहा है। आधी रात को रीना की नींद खुली क्योंकि कुछ जोर-जोर से चिल्लाने की आवाज आ रही थी उसने जगन को उठाने के लिए हाथ उठाया तो देखा कि जगन अपने बिस्तर पर नही है और यह देख रीना और ज्यादा घबरा गई ।

bhoot wali kahani
bhoot wali kahani

अब उसने जगन को यहां वहां ढूंढना शुरू कर दिया पर वह कहीं नहीं मिला फिर अचानक रीना अपने कमरे से बाहर निकली और उसकी नजर सीढ़ियों के पास एक कमरे पर पड़ी जो कि बंद था लेकिन वह आवाज उसी कमरे से आ रही थी।जैसे ही वह उस कमरे की तरफ बढ़ी तो अचानक से जगन वहा आ गया और उसकी बातों को टालते हुए उसे वहा से ले गया।रीना के मन में अभी भी न जाने कितने सवाल थे वह जानना चाहती थी कि आखिर क्या है उस कमरे में? कुछ दिन बाद फिर से आधी रात को उस कमरे से जोर-जोर से किसी के चिल्लाने की आवाजें आने लगी और इस बार भी जगन फिर से अपने बिस्तर पर नहीं था । आज रीना ने ठान लिया था कि वह पता करके ही रहेगी कि यह सब क्या है वह सीधा उसी कमरे के पास गई। उसने देखा कि वहां पर एक बहुत बड़ा ताला लगा हुआ था और उस कमरे की खिड़की भी अंदर से बंद थी जिस वजह से वह अंदर झांक भी नही पाई। जैसे ही रीना ने ताला तोड़ने की कोशिश की तो अचानक से वहां जगन आ गया और उसने रीना को बहुत डांटा और हाथ पकड़कर उसे कमरे में ले गया।

bhoot wali kahani
लेकिन उस कमरे का सिलसिला चलता रहा जगन हर रोज की तरह आधी रात एक थाली में खाना लेकर उस कमरे में जाता है और रोज-रोज उस कमरे से किसी के चीखने की आवाज आती है। अब रीना सच पता लगाने की कोशिश करती है एक रात जगन गहरी नींद में सो रखा था ,रीना ने मौका मिलते ही उसकी जेब से चाबी निकाली और वे उस कमरे की ओर चली गई और कमरे में घुसते ही रीना ने जो देखा वह काफी ज्यादा डर गई थी उसके हाथ कांपने लगे थे उस कमरे में एक बहुत बड़ी भूतनी थी जो बड़ी-बड़ी जंजीरों से बंधी हुई थी और वह गर्भवती थी उसके बिखरे बाल जो बहुत ही उलझे हुए थे, उसके हाथों के और पैरों के नाखून इतने लंबे थे जैसे सदियों से नहीं काटे गए हो और मुख काफ़ी ज्यादा भयानक था जो किसी को डराने के लिए काफी था और वही भूतनी जोर-जोर से चीख रही थी।

bhoot wali kahani
bhoot wali kahani

शायद गर्भअवस्था के कारण उस भूतनी को कभी-कभी दर्द होता होगा इसीलिए वह चिल्लाती थी ।अचानक से वहां जगन आ गया और रीना को देखते ही कहा कि मैंने तुम्हारी भलाई के लिए ही तुम्हें यहां आने से मना किया था। इस समय रीना के दिमाग में बहुत सारे सवाल घूम रहे थे। फिर जगन ने रीना को कमरे में ले जाकर सब कुछ बताया कि यह भूतनी काफी समय से यही रह रही है। बहुत साल पहले जब वह छोटा था तो यहां पर अपने दादा दादी और मम्मी-पापा के साथ यहां रहता था लेकिन कुछ समय बाद एक कार दुर्घटना में उसके मां-बाप मारे गए । उसके बाद वह अपने दादा- दादी के साथ रहा लेकिन कुछ सालों के बाद उनका भी देहांत हो गया ।अब जगन अक्सर घर से बाहर ही रहता था और वह घर सुनसान सा रहना लगा ।

कुछ समय तक जगन को पता ही नहीं चला कि उसके घर में कोई भूतनी भी रह रही है लेकिन एक दिन अचानक उसे भी इसी तरह की की आवाज सुनाई देने लगी तब जाकर उसको यह सब पता चला जिसके बाद वह साधु बाबा के पास गया और यह सारी बाते बताई। फिर साधु बाबा ने उसे कहा कि भूतनी को घर से बाहर ना निकालें क्योंकि वह गर्भवती है अपने बच्चे होने के बाद में वह खुद ब खुद इस घर से बाहर चली जाएगी और वह किसी को नुकसान भी नहीं पहुंचाएगी लेकिन हां उस पर किसी स्त्री की परछाई नही पड़नी चाहिए अन्यथा वह कुछ भी कर सकती है। इसीलिए जगन ने कभी भी उस भूतनी पर रीना की परछाईं नहीं पड़ने दी। अब रीना उस कमरे से दूर रहने लगी वो सिर्फ़ दूर दूर से जगन की सहायता करती थी।

bhoot wali kahani
bhoot wali kahani

एक दिन जगन किसी कारणवश घर से बाहर चला गया और रीना उस दिन घर पर अकेली थी। उस समय उस भूतनी को बहुत पीड़ा हुई और वह जोर जोर से चिल्लाने लगी , उसकी आवाज सुनते ही रीना से रहा नहीं गया और वह दौड़ते हुए उसी कमरे में चली गई। उसने देखा कि भूतनी दर्द की वजह से कराह रही है वह समझ गई कि उसके बच्चे होने वाले हैं इसी वजह से उसे दर्द हो रहा है ।भूतनी ने रीना से कहा कि मेरी सहायता करो और उसके दोनों हाथों को खोल दे, पहले तो रीना घबराई लेकिन उसके चेहरा देखकर उसे उस पर दया आ गई और उसने दोनों हाथों को खोल दिया ।

थोड़ी देर बाद भूतनी ने 5 बच्चों को जन्म दिया जो देखने में इंसान जैसे थे। जैसे ही रीना उन बच्चों के पास जाने लगी तो भूतनी ने उसका गला पकड़ लिया और कहने लगी तू मेरे बच्चों को चुराने आई है तू उन्हें मार देगी और रीना को मारने की कोशिश करने लगी। तभी वहां जगन आ गया और उसने रीना को बचाने की कोशिश की पर भूतनी ना मानी और कहने लगी कि तू मेरे बच्चों को मारने आई है मैं तुझे नहीं छोडूंगी तभी अचानक रीना के मुंह से निकला कि मैं तुम्हारे बच्चों को क्यों मारूंगी मैं तो खुद मां बनने वाली हूं?यह सुनते ही भूतनी ने उसे छोड़ दिया और वहां से यह कहकर चली गई कि तू मां बनने वाली है इसीलिए एक मां का दर्द तू समझेगी। तभी जगन ने रीना से पूछा कि तुमने बताया नहीं तुम मां बनने वाली हो?रीना ने कहा कि यह बात मुझे सुबह ही पता चली है जब में डॉक्टर के पास गई थी। इसके बाद वह भूतनी कभी भी उस घर में नही आई और रीना ने भी एक प्यारी से बच्ची को जन्म दिया जो बिल्कुल रीना जैसी थी।इस तरह से रीना और जगन अपनी दुनिया में बहुत खुश थे।

अन्य पढ़े

Leave a Comment