2022 bharat ka sabse bada airport | भारत का सबसे बड़ा एयरपोर्ट

दोस्तों आज हम बात करने जा रहे है भारत के सबसे बड़े एयरपोर्ट के बारे में। सबसे पहले आपको यह पता होना चाहिए कि किसी भी देश के लिए एयरपोर्ट का इतना महत्व क्यों है? किसी भी देश के लिए जिस तरह से सड़क परिवहन, रेल परिवहन, ट्रेन परिवहन, जल परिवहन का होना जरूरी है उसी तरह से वायु परिवहन का भी उतना ही ज्यादा महत्व है। इसके बिना हम अपने देश को प्रगति की राह में नहीं ले जा सकते।

दोस्तों आज हम बात करने जा रहे है भारत के सबसे बड़े एयरपोर्ट के बारे में। सबसे पहले आपको यह पता होना चाहिए कि किसी भी देश के लिए एयरपोर्ट का इतना महत्व क्यों है? किसी भी देश के लिए जिस तरह से सड़क परिवहन, रेल परिवहन, ट्रेन परिवहन, जल परिवहन का होना जरूरी है उसी तरह से वायु परिवहन का भी उतना ही ज्यादा महत्व है। इसके बिना हम अपने देश को प्रगति की राह में नहीं ले जा सकते।

bharat ka sabse bada airport
bharat ka sabse bada airport

भारत एक बड़ा देश है यहां पर कई सारे एयरपोर्ट मौजूद है। अगर भारत के सबसे बड़े एयरपोर्ट की बात की जाए तो वह है इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट ( Indira Gandhi International Airport )। यह एयरपोर्ट ना केवल भारत का सबसे बड़ा एयरपोर्ट है बल्कि भारत का सबसे व्यस्त एयरपोर्ट में से एक है। इस एयरपोर्ट का नाम भारत के पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के नाम पर रखा गया है इससे पहले इसे पालम एयरपोर्ट के रूप में भी जाना जाता था। 2008 में इस एयरपोर्ट का अनावरण किया गया था और यहां पर हर साल यात्रियों की संख्या बढ़ती जा रही है। अगर हम इस बढ़ोतरी का अनुमान लगाते हैं तो इस एयरपोर्ट में हर साल 8 करोड़ से 9 करोड़ लोग आते हैं ।

अगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की बात करे तो भारत में 120 से भी ज्यादा इंटरनेशनल एयरपोर्ट हैं। भारत में वैसे तो कई सारे एयरपोर्ट मौजूद है लेकिन भारत में कुल 126 एयरपोर्ट अभी वास्तव में चल रहे है और एयरस्ट्रिप की बात करें तो भारत में कुल 449 एयरस्ट्रिप भी मौजूद है।लेकिन भारत में नियमित रूप से फ्लाइट का आना-जाना भारत के केवल 100 एयरपोर्ट पर ही चालू है। इन जगहों पर विदेशों से फ्लाइट सीधा भारत में उतरती है और अगर यात्रियों के अनुसार देखा जाए तो दिल्ली का इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट भारत का सबसे बड़ा एयरपोर्ट है।

अगर भारत की जनसंख्या की बात करे तो भारत जनसंख्या के मामले में चीन के बाद दूसरे स्थान पर आता है जबकि भारत दुनिया का सातवा सबसे बड़ा देश है । लेकिन जब किसी देश में एयरपोर्ट की बात होती है तो भारत का नाम काफी पीछे आता है। किसी देश के विकास के लिए परिवहन का विकास होना काफी ज्यादा जरुरी है।यदि परिवहन विकसित रहता है तो देश के विकास में आ रही अड़चने काफी हद तक दूर हो जाती हैं।

परिवहन में मुख्य रूप से हवाई परिवहन सेवा भी आती है और हम सभी को पता है कि हवाई जहाज के चलने के लिए एयरपोर्ट का होना बहुत ज्यादा जरुरी होता है। देश में जितने ज्यादा एयरपोर्ट रहेंगे देश के लोगो को वायु परिवहन करने में उतनी ही ज्यादा सुविधा मिलेंगी। बीते सालों में देश में एयरपोर्ट बनाने का काम काफी तेजी से बढ़ा है और आने वाले समय में छोटे से छोटे शहर के लोगो को भी वायु परिवहन की सुविधा मिलेगी।

bharat ka sabse bada airport

अब हम यहां पर इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट के बारे में विस्तार से जानेंगे कि यह एयरपोर्ट इतना महत्वपूर्ण क्यों है

भारत का सबसे बड़ा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा

भारत का सबसे बड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट है। यह 5106 एकड़ के एरिया में फैला हुआ है। इस एयरपोर्ट को सन् 1966 में पालम हवाई अड्डे के रूप में बनाया गया था। इसकी कुल यात्री क्षमता प्रति वर्ष 60 मिलियन से अधिक यात्रियों की है। यह भारत का सबसे व्यस्त हवाई अड्डा है और एशिया का तीसरा सबसे व्यस्त हवाई अड्डा भी है। इस हवाई अड्डे के दो टर्मिनल हैं_ टर्मिनल 1 और टर्मिनल 3 और इसे यात्री द्वारा यातायात का सबसे व्यस्त हवाई अड्डे का स्थान14 दिया गया है।
इस समय भारत में कुल 29 इंटरनेशनल एयरपोर्ट हैं। इसमें से सबसे अधिक चार-चार इंटरनेशनल एयरपोर्ट तमिलनाडु और केरल राज्य में हैं। भारत में तमिलनाडु और केरल में सबसे ज्यादा इंटरनेशनल एयरपोर्ट हैं।

इंदिरा गांधी इंटरनेशनल पुरस्कार के बारे में

साल 2010 में इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को 20 से 25 मिलीयन श्रेणी में दुनिया का चौथा हवाई अड्डा पुरस्कार और एयरपोर्ट काउंसिल इंटरनेशनल ( Airport Council International) द्वारा एशिया प्रशांत क्षेत्र में बेहतर हवाई अड्डे से सम्मिलित किया गया था । सन् 2015 में भारत के हवाई अड्डे और मध्य एशिया या भारत का सबसे अच्छा हवाई अड्डे स्टाफ के लिए दो पुरस्कार भी मिले हैं।

भारत में कितने नेशनल एयरपोर्ट्स हैं ?

भारत जनसंख्या के मामले में दूसरे नंबर पर है लेकिन एयरपोर्ट की संख्या के अनुसार भारत बहुत ही पीछे है। अगर हम एयरपोर्ट्स की बात करें तो एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ( Airport Authority of India ) के एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में कुल 153 एयरपोट्स हैं जबकि विकिपीडिया के अनुसार भारत में कुल मिलाकर 486 एयरपोर्ट्स मौजूद है जिसमें से 123 एक्टिव है।

इसमें से कुछ एयरपोर्ट का इस्तेमाल भारतीय सेना भी करती है और कुछ एयरपोर्ट बंद है। इसी दौरान भारत सरकार ने भारत में वायु परिवर्तन की जागरूकता के लिए उड़ान का परियोजना चलाई है जिसके कारण कई छोटे-छोटे शहरों को हवाई सेवाओं से जोड़ा जाएगा और भारत में जितने भी एयरपोर्ट बंद पड़े हैं फिर से उन्हें शुरू किया जाएगा।

भारत में कितने इंटरनेशनल एयरपोर्ट हैं ?

भारत में वैसे तो कुल 29 अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट्स है। लेकिन भारत में इंटरनेशनल एयरपोर्ट 29 को माना जाता है जिसमें सरकारी इंटरनेशनल एयरपोर्ट्स भी शामिल है । अथॉरिटी ऑफ इंडिया ( Authority of India) के अनुसार भारत में 10 कस्टम इंटरनेशनल एयरपोर्ट्स हैं। 29 और 10 को जोड़ कर कुल मिलाकर 39 एयरपोर्ट्स है और यह सारे एयरपोर्ट चालू भी हैं।

कस्टम एयरपोर्ट के बारे में

यह हवाई अड्डा एक सुविधा वाला हवाई अड्डा है । ज्यादातर हवाई अड्डे में आमतौर पर एक लेंडिंग एरिया होता है जिसमें कम से कम एक सक्रिय रूप से खुली जगह होती है और यह भारत के नियमों को लागू करने के लिए जिम्मेदार है ।

इंटरनेशनल एयरपोर्ट्स के फायदे

भारत में 29 से अधिक इंटरनेशनल एयरपोर्ट्स हैं जो दुनिया भर के लोगों के लिए यात्रा को आसान बनाते हैं और आपकी यात्रा को सफल बनाने के लिए यहां पर कई प्रकार की सेवाएं और सुविधाएं प्रदान करते हैं। इस अंतरराष्ट्रीय में पार्किंग सुविधा प्रदान करते हैं जिससे आप आसानी से पार्क कर सकते हैं और अपने गेट पर बिना किसी परेशानी के जा सकते हो।

निष्कर्ष

दोस्तों इस तरह से हमने भारत के सबसे बड़े एयरपोर्ट के बारे में जाना कि यह एयरपोर्ट इतना ज्यादा खास क्यों है? भारत में कितने एयरपोर्ट्स है? एयरपोर्ट के मामले में भारत का विश्व में क्या स्थान है? इस आर्टिकल में हमें भारत के एयरपोर्ट के बारे में बहुत सी बाते जानने को मिली। किसी भी देश के विकास के लिए वायु परिवहन बहुत ही महत्वपूर्ण होता है यह उस देश के अर्थव्यवस्था की नींव होती है। अगर समय रहते इसमें सुधार ना किया जा सके तो उस देश की प्रगति में सबसे बड़ी रुकावट बन सकती है।

यही पर अगर हम भारत को देखे तो यह जनसंख्या के मामले में दूसरे स्थान पर है लेकिन एयरपोर्ट के मामले में बहुत पीछे है। भारत में लगभग 39 इंटरनेशनल एयरपोर्ट्स हैं और 486 नेशनल एयरपोर्ट्स है।हवाई यात्रा की मांग बढ़ने के साथ-साथ यह संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। भारत में कई इंटरनेशनल एयरपोर्ट्स हैं जो आधुनिक है और काफी अच्छे भी हैं। ये एयरपोर्ट्स यात्रियों के लिए एक सुगम यात्रा अनुभव की अनुमति देते हैं, और ये देश की अर्थव्यवस्था के लिए भी महत्वपूर्ण हैं।

Leave a Comment