Be Real App : क्या इस ऐप को यूज़ करना चाहिए ?

दोस्तों आज हम बात करने वाले है एक ऐसे सोशल नेटवर्किंग ऐप के बारे में जोकि ऐप्पल के अकॉर्डिंग टॉप सोशल मीडिया ऐप है और इसका नाम है Be Real , यह ऐप इंस्टाग्राम के कॉम्पिटीशन में आई हैं ।

Be Real App क्या हैं ?
Be Real App में कोई फिल्टर नहीं हैं और अगर आप बहुत ज्यादा फिल्टर का यूज़ करते हैं तो शायद यह एप्लिकेशन आपके काम की नहीं हैं । इसमें आपको डेली 2 मिनट की वीडियो बनाकर पोस्ट करनी है जैसे _ आप कोई भी काम कर रहे हो तो उसकी वीडियो बनानी है और उस वीडियो में आप भी होने चाहिए और 2 मिनट की वीडियो बनाकर आपने पोस्ट करनी है ।

अब आप ही बताए इस चीज का कोई सेंस बनता है? जब आप Be Real App को इंस्टाल करोगे तो उसके बाद आपको रजिस्टर करना होगा और रजिस्टर करने के बाद आपको डेली 2 मिनट देने होंगे । आपसे पूछ लिया जाए कि इस वक्त आप क्या कर रहे हो तो डेली 2 मिनिट आपको देने पड़ेंगे जिसमे आपको अपना रॉ फेस दिखाना होगा और फिर उसे पोस्ट करना है ।

दोस्तों अगर आप गौर करें तो इस एप्लीकेशन में आपकी प्राइवेसी कहां हैं ? और आजकल हम ऐसी चीजें बहुत यूज़ कर रहे है । इस ऐप में आपके पास एक नोटिफिकेशन आएगा और उस वक्त आप जो भी कर रहे है उसकी 2 मिनट की वीडियो रिकॉर्ड करके पोस्ट करना होगा । यह चीज़ बहुत गलत है क्योंकि कभी भी वीडियो बनाने का नोटिफिकेशन आ सकता है और उस वक्त इंसान कुछ भी कर रहा हो _ अगर वो कुछ ऐसी चीजें कर रहा है जिसको रिकॉर्ड करना सही नहीं है तो उसकी वीडियो कैसे बनाए ? इस ऐप का कॉन्सेप्ट है कि आप जो रीयल में हो और रीयल में कर रहे हो वही दिखाना हैं तो रीयल में तो ऐसी बहुत सी चीज़ें होती है जिसे नहीं दिखाया जा सकता । यहां हमें समझ नहीं आया कि यह ऐप रीयल में क्या करना चाह रहा है ?

लेकिन दोस्तों रीयल रहने का मतलब यह थोड़ी ना होता है कि आप अभद्रता फैलाओ , ऐसे बहुत से काम होते है जिसे इंसान करता है , लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि उसकी वीडियो बना ली जाए । क्या आपको लगता है हमें ऐसे सोशल मीडिया ऐप की जरूरत है जो हमें रीयल दिखाए ? आजकल ऐसे बहुत से सोशल मीडिया ऐप है जो नकली है , आप यह कह सकते हो कि सोशल मीडिया की दुनिया ही नकली है ।यहां पर इंसान जैसा दिखाता है ज्यादातर चांसेस यही है कि असल जिंदगी में वो वैसा बिलकुल भी नहीं होता है । जैसे आपके फेसबुक पर एक फ्रेंड है जो एकदम रॉकस्टार लड़का है लेकिन असल जिंदगी में वो वैसा नहीं है । कई बार ऐसा भी होता है कि सोशल मीडिया ऐप पर जो लड़की आपको 17 साल की दिख रही है असल जिंदगी में वो 30 साल की है और उसके 2 बच्चे भी है । वो सिर्फ सोशल मीडिया पर ही यंग दिखती है लेकिन रियलिटी में कुछ और हैं ।

कई बार यह भी होता है कि बहुत से ऐसे लोग होते है जो गलत तरीके से पैसा कमाते है और बहुत बुरे लोग होते है लेकिन सोसायटी और सोशल मीडिया में वो ऐसा दिखाते है कि वो बहुत ज्यादा सभ्य और अच्छे इंसान हैं। क्या आपको लगता है वो Be Real App में खुद की सचाई दिखा सकते है तो एक तरह से हम यह कह सकते है सोशल मीडिया नकली हैं । हमारे लिए यह जरूरी है कि हम रीयल रहे और वही दिखाए जो हम असल जिंदगी में है । दोस्तों आप कोशिश कीजिए कि आप नकली सोशल मीडिया ऐप से दूर रहे और आप रीयल में जो है वही लोगों को दिखाए ।

Leave a Comment