बेहतर बनिए बत्तर नहीं

बेहतर बनिए बत्तर नहीं

हर किसी की इच्छा होती है कि वह दुनिया में सबसे बेहतर बने लेकिन यह कैसे हो सकता है ? बेहतर व्यक्ति बनना भी एक व्यक्तिगत निर्णय होता है जो निर्णय आपको लेना चाहिए जिससे आप जान सकते हैं कि आप बेहतर इंसान कैसे बन सकते हैं। दोस्तो सफलता का अर्थ कभी भी दूसरों से बेहतर बनना नहीं होता। हम हमेशा यह भूल जाते हैं कि हम अपने और अपने आस-पड़ोस के लोगों से कैसे व्यवहार करते हैं, यदि आप खुद को बेहतर बनाना चाहते हो तो यह बात हमेशा याद रखना कि एक अच्छा व्यक्ति बनने की शुरुआत यहीं से शुरू हो सकती है कि हम दूसरों के साथ कैसा व्यवहार करते हैं । यदि आप अपने आसपास के लोगों की नजरों में एक अच्छा व्यक्ति है तो समझ लेना आप बहुत जल्द एक अच्छे इंसान बन सकते हैं। बेहतर व्यक्ति हम रातों-रात तो नहीं बन सकते हैं लेकिन यह असंभव भी नहीं है कि हम बेहतर नहीं हो सकते हैं। आपको एक बेहतर व्यक्ति बनने के लिए हर जगह आपको सभी की नजर में अच्छा बनना पड़ता है और ऐसा सिर्फ आप अपने आप में कुछ परिवर्तन एवं सुधार करके बन सकते हो ।
आप खुद कुछ सीख कर बेहतर बन सकते हो आप हमेशा सभी का सम्मान करो। आप जिस किसी का भी सम्मान करोगे , वह चाहे आपसे छोटा क्यू हो या बड़ा? अगर आप एक बेहतर व्यक्ति है और सबकी पसंद बनना चाहते हैं तो सभी का सम्मान करने की आदत डालें ।यह एक बेहतर व्यक्ति बनने का अच्छा तरीका है जब आप ऐसे करेंगे तो आपको खुद पता चल जाएगा कि दूसरों की इज्जत करने से कितनी खुशी मिलती है और आपको अच्छा महसूस भी होगा जिन लोगों ने आप को चोट पहुंचाई है उन्हें माफ करना सीखें। कई लोग तो गुस्से वाले होते हैं जिन्हें किसी की छोटी सी बात पर भी बहुत ज्यादा गुस्सा आ जाता है लेकिन यह किसी और के लिए नहीं बल्कि हमारे लिए ही हानिकारक होता है लेकिन गुस्सा करना भी बुरी बात नहीं होती है जब आप किसी की बात पर गुस्सा करते हैं या किसी छोटे से मामले पर गुस्सा हो जाते हैं यह अच्छा नहीं होता ? आपको अपने गुस्से पर काबू पाने की कोशिश करनी चाहिए ताकि आप एक बेहतर इंसान बन सके। दुनिया में हमें सब कुछ सरल लगता है लेकिन सरल बनकर रहना भी तो आसान नहीं है ।अगर आप लोगों की नजरों में अच्छा इंसान बनना चाहते हैं तो आपको बोलने का तजुर्बा होना चाहिए । हम लोग खुद को बदलने के लिए अलग अलग तरीके करते है ।कई लोग तो आपको अलग-अलग शब्दों से पुकारते हैं वह लोग ऐसे कहते हैं ? अरे यह पागल तो नहीं हो गया है, इसका दिमाग ठीक तो है, इसको क्या हो गया है? ऐसे शब्द का प्रयोग करते हैं लेकिन एक दिन आप उन लोगों की नजरों में एक बेहतर व्यक्ति बन जाओगे जिस दिन आप अपने व्यवहार को सुधार करोगे।

1 अच्छा व्यक्ति कैसे बन सकते हैं
एक अच्छा व्यक्ति होने का अर्थ दूसरों के लिए कुछ करने से कहीं अधिक है पहले आप स्वयं को स्वीकार करें ,और स्वयं को प्रेम करें।आजकल तो कोई ना कोई एक दूसरे से अच्छा बनना चाहता है । वह चाहते हैं कि हर जगह सिर्फ हमारी इज्जत हो इसीलिए वह खुद को एक अच्छा इंसान बनाना चाहते हैं ।दुनिया में एक बुरा इंसान बनना तो आसान होता है, लेकिन एक अच्छा व्यक्ति बनना काफी मुश्किल हो जाता है इसी के साथ हमें अच्छा व्यक्ति बनने के लिए कई तकलीफें उठानी पड़ती है। एक अच्छा इंसान बनने के लिए आप सबसे पहले अपनी बुरी आदतें छोड़ दें । बुरी आदतें ही किसी इंसान को बुरा बनाती है ।

2)आप सबकी पसंद बने :
सबकी यह चाहत होती है कि वह सबकी नजर में अच्छा बने।हमें अपना ऐसा व्यवहार रखना चाहिए कि हम हर किसी को पसंद आ जाए और हर इंसान हमसे खुश रहे ।यह गुण हमारे अंदर नहीं होते हैं बस हमें परखने की देरी होती है जो लोग खुश मिजाज के होते है ऐसे लोग के साथ में रहना अच्छा लगता है।

3)इज्जत करना सीखे:
आप सभी को तो पता होगा कि आप दूसरों की इज्जत तभी कर सकते हैं जब आप अपनी इज्जत करते हो । हम सभी चाहते हैं कि हमारे जीवन में हमें हमेशा सभी से सम्मान प्राप्त हो ।लेकिन सम्मान देना कोई नहीं चाहता है लेकिन दोस्तों समस्या तो यह है कि हम अपनी रिस्पेक्ट करें तो कैसे करें ? हमें खुद को बेहतरीन बनाना है लेकिन दोस्तों यह गुड्डा गुड़िया का खेल तो नहीं है हमें बेहतर बनने के लिए मेहनत करनी पड़ती है अगर आप खुद की इज्जत करोगे तभी आप औरों की भी इज्जत कर सकते हो। जैसे : हमें अपना ख्याल स्वयं रखना चाहिए। आपको अपने बारे में सोचना चाहिए कि आप मे क्या सही है ?और क्या गलत है? अपने तौर तरीके में सुधार करें।अगर किसी को मदद की जरूरत हो तो उसकी मदद करे।छोटो से प्यार करना सीखें और बड़ों का आदर करना सीखें।

4) माफ करना सीखें:
दोस्तों माफ करने के लिए हमें दिल बड़ा करने की जरूरत होती है ।जब कोई व्यक्ति आपको दुख देता है या आपकी भावनाओं को ठेस पहुंचाता है तो उसे माफ करना मुश्किल हो जाता है। अगर खुद से कोई गलती होती है तो हम तुरंत सॉरी बोल देते हैं, लेकिन जब दूसरों को माफ करने की बात आती है तब हम सोचते हैं कि इसे कैसे माफ करें । वह इंसान हमसे माफी मांगता है, पर हम उस इंसान को माफ करने की वजह उसे सुनाने लगते हैं कि तूने ऐसा क्यों किया ? मुझे यह उम्मीद नहीं थी? लेकिन आपको यह याद रखना चाहिए कि किसी को माफी दे कर उसे जीवन में एक मौका तो देना चाहिए गलतियों को माफ कर देने से आपका मन भी हल्का हो जाता है और माफी मांगने वाले का भी हो जाता है ।हमेशा यह याद रखना अगर जो व्यक्ति गलती करता है और उसे अपनी गलती का एहसास होता है और वह आपसे माफी मांगने आता है तो उसे माफ कर देना ही बेहतर होता है।

निष्कर्ष
यदि आप एक सफल व्यक्ति बनना चाहते हैं तो अपनी सोच में बदलाव लाना होगा जो कि सफल व्यक्ति को उसके बुरे समय में आत्मविश्वास और मजबूत बना सकते हैं और उन्हें हर काम को अंजाम देने का साहस देते है ।हमें बेहतर बनाने के लिए हमारी भाषा का सही प्रयोग होना भी जरूरी है । अगर आप बेहतर भाषा का प्रयोग करेंगे तो आप बहुत जल्द एक बेहतर इंसान बन सकते हैं आप एक बेहतर व्यक्ति तब ही बन सकते हो जब आप सभी की पसंद बन जाओगे। मैं आपसे यही कहना चाहती हूं कि आपको बेहतर बनना है तो आपको किसी की नकल नहीं करनी चाहिए बल्कि खुद की मेहनत के दम पर औरों से भी बेहतर बन सकते हो ।

Leave a Comment