पुलिस ने 100 रूपये की पेटीएम ट्रांजेक्शन से 6 करोड़ की लूट का केस सॉल्व किया

images%20(2)

दोस्तों हाल ही में दिल्ली के पहाड़गंज इलाके में एक चोरी का मामला सामने आया था जिसमें दिल्ली पुलिस ने 100 रूपये की पेटीएम ट्रांजेक्शन से 6 करोड़ की लूट का केस सॉल्व किया है ।  दरअसल हुआ यूं कि कुछ दिन पहले दिल्ली के पहाड़गंज इलाके में सोमवीर जो कि उस कंपनी में डिलीवरी बॉय के रूप में काम करता है , वह सुबह के करीबन 4 बजे अपने एक साथी जगदीप सैनी के साथ अपने ऑफिस से पार्सल लेकर DBG रोड की तरफ जा रहे थे।तभी मिलेनियम होटल के पास इन्हें 2 पुलिसवाले दिखे जिन्होंने इन दोनों को रोककर बैग चैक करवाने के लिए कहा लेकिन इन दोनों का क्या पता था यह पुलिस नहीं बल्कि चोर है इसीलिए इन्होंने अपना बैग चैक करने के लिए दे दिया और जैसे ही इन्होंने अपना बैग दिया तो इनके दो पुलिस साथी वहां आ गए और इन दोनों पर मिर्च पाउडर डाला और जान से मारने की धमकी दी और छह करोड़ रुपये के जेवरात लेकर भाग गए । लेकिन यह सारी घटना एक सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड हो गई और यह सोशल मीडिया पर तेजी से फैल गई  ।

पुलिस ने इस मामले की डीप इंवेस्टीगेशन की , पिछले सात दिनों में उन्होंने 700 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे को देखा और कई सारी जानकारी से इन्हें पता चला कि इन डकैती का मास्टरमाइंड नागेश ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर अपने इस प्लान को अंजाम दिया था । इन चारों ने कुछ दिन पहले से ही इस चोरी की प्लानिंग कर रखी थी और इस सबका खुलासा सीसीटीवी कैमरे से हुआ ।

images%20(3)

अब सवाल यह आता है कि यह चोर पकड़े कैसे गए ?

इसमें से एक चोर चाय लेने गया था लेकिन इसके पास कैश नहीं था इसीलिए इसने एक कैब वाले को रोककर उससे 100 रूपये कैश में लेकर उसे पेटीएम में 100 रूपये ट्रांसफर किया  । यह इन चोरों की सबसे बड़ी गलती साबित हुई और बाद में इसी वजह से यह पकड़े भी गए ।आरोपी की पहचान नागेश कुमार , शिवम  मनीष कुमार के नाम से हुई है यह तीनों नजफगढ़ के रहने वाले थे ।इन पुलिस ने बताया कि इनके पास गोल्ड , सिल्वर , IIFL में जमा 500 ग्राम गोल्ड और डायमंड्स भी थे जिनकी कीमत 6 करोड़ रूपये है ।

images

दिल्ली पुलिस ने अपनी इन्वेस्टिगेश में सबसे पहले चाय वाले से बात करी तो पता चला कि उन चोरों के पास कैश नहीं था इसीलिए उन्होंने किसी कैब वाले से 100 रूपये लेकर मुझे दिए और उस कैब वाले को Paytm किया गया । और इसी कैब वाली की वजह से यह चोर पकड़े गए क्योंकि अब पुलिस के पास इनका नंबर चला गया था तो पता चला कि यह नंबर नजफगढ़ का है ।

जब पुलिस वाले इनको ढूढते हुए इनके घर पहुंचे तो पता चला कि यह चोर वहां से भी फरार हो गए है लेकिन पुलिस ने इनकी पूरी कॉल हिस्ट्री निकाली जिसमें इनके कॉल हिस्ट्री को देखा गया । पुलिस ने इन्हें जयपुर के एक फ्लैट से गिरफ्तार किया और इन्होंने 6 करोड़ के जो जेवरात चुराए थे वो भी बरामद किया गया और अभी भी एक आरोपी फरार है जिसकी खोज अभी भी की जा रही है ।

दोस्तों इस तरह से हमें पता चलता है कि चोर कितना ही शातिर क्यों ना हो लेकिन वह जल्दबाजी में कोई ना कोई गलती कर जाता है और यही पर एक गलती इन चोरों ने करी जिसकी वजह से वह लोग पकड़े गए । पुलिस ने भी एक 100 रूपये के पेटीएम ट्रांजेक्शन ने इनको जयपुर से भी ढूंढ निकाला ।

Leave a Comment