पहली बार पिग हार्ट ट्रांस्प्लाट किया जाएगा इंसान के अंदर

1) पहली बार पिग हार्ट ट्रांस्प्लाट किया जाएगा इंसान के अंदर

दोस्तों अमेरिका के अंदर जेनेटिकली मॉडिफाइड पिग के हार्ट ( Genetically Modified Pig Heart ) को दो पेशेंट के अंदर ट्रांसप्लांट किया गया है।दुनिया के सबसे पहले व्यक्ति 57 साल के डेविड बेनेट ( David Bennett ) थे जिसे सबसे पहले पिग हार्ट ट्रांस्प्लांट किया गया था ।लेकिन अब जिन दो व्यक्तियों को हार्ट ट्रांसप्लांट किया गया है, वह ब्रेन डेड है यानी कि वह मरे हुए है वो दोनों सिर्फ़ वेंटिलेटर सपोर्ट से ही जिंदा है उनका हार्ट ट्रांसप्लांट कर दिया गया है जिसके अंदर अभी तक कोई रिएक्शन नहीं देखने को है ।दोस्तों जब कोई ऑर्गन हमारा नहीं होता तो हमारी इम्युनिटी उसे रिजेक्ट करना शुरू कर देती है क्योंकि वह ऑर्गन हमारा नहीं होता इसीलिए वह बाहरी चीज को अपना दुश्मन समझने लगती है। 57 साल डेविड बेनेट के साथ ऐसा बिल्कुल नहीं हुआ बल्कि इनकी बॉडी ने बिल्कुल भी रिएक्ट नहीं किया था क्योंकि उस हार्ट को इस तरीके से मॉडिफाई किया गया था कि इंफेक्शन का भी पता नहीं चला और इनकी मौत हो गई।अब FDA इस टेक्नोलॉजी के ऊपर और रिसर्च करना चाहते है क्योंकि भविष्य में इसकी ज़रूरत पड़ने वाली है।

2 ) बिल गेट्स ने किया $20 बिलियन का डोनेशन

दोस्तों एक वक्त में बिल गेट्स ( Bill Gates ) दुनिया के सबसे अमीर आदमी हुआ करते थे लेकिन आज वह सबसे अमीर आदमी नहीं रहे लेकिन हां बिलियनर्स की लिस्ट में इनका नाम जरूर आता है ।लेकिन जिस तरीके से यह डोनेशन कर रहे हैं आने वाले वक्त में आपको इनका नाम बिलियनर्स की लिस्ट में भी नहीं देखने को मिलेगा क्योंकि इन्होंने फिर से $20 बिलियन की डोनेशन कर दी है यह डॉनेशन इन्होंने बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ( Bill & Melinda Gates Foundation ) को किया हैं। अब धीरे-धीरे इनकी नेटवर्थ कम होती जा रही है शायद भविष्य में इनका नाम बिलियनर्स की लिस्ट में देखने को ना मिले।

3 ) श्रीलंका के अंदर इकनॉमिक क्राइसिस की वजह से जनता ने किया प्रेसिडेंशियल हाउस पर कब्जा

दोस्तों आपने श्रीलंका के अंदर चल रहे इकोनॉमिक क्राइसिस के बारे में तो सुना ही होगा इस क्राइसिस की वजह से लोगों ने प्रेसिडेंट हाउस के ऊपर ही कब्जा कर लिया है जिसकी वजह से प्रेसिडेंट को अपना हाउस छोड़कर भागना पड़ा । अब प्रेसिडेंट का हाउस टूरिस्ट स्पॉट बन चुका है लोग वहां जा जाकर फोटो खिंचवा रहे और स्विमिंग पूल का यूज कर रहे है जिस तरीके से तालिबानी घुस गए थे यह भी उसी तरीके की हरकतें कर रहे है ।दरअसल श्रीलंका के अंदर इकोनॉमिक क्राइसिस कुछ इस तरीक़े का चल रहा है कि वहां पर फुड की शॉर्टेज है , फ्यूल की शॉर्टेज है और बहुत लंबे वक्त तक बिजली भी वापस नहीं आती है । अब वहां के प्रेसिडेंट अपना हाउस छोड़कर मालदीव के अंदर फैमिली के साथ रह रहें है ।

4 ) चीन बहुत जल्द स्पेस टूरिज्म करवाएगा और यह यूएस के मुकाबले बहुत सस्ता भी होगा

दोस्तों चीन इतनी ज्यादा तरक्की कर रहा है जिससे सुनकर आप भी हैरान हो जाओगे अब उसने स्पेस टूरिज्म ( Space Tourism ) के ऊपर भी काम करना शुरु कर दिया है। वह अब इस तरीके के रॉकेट डेवलप कर रहा है जिससे स्पेस टूरिज्म करवाया जा सके। इसी के साथ साथ वह बहुत जल्द अपनी तियांगोंग अंतरिक्ष स्टेशन ( Tiangong Space Station ) को भी टूरिज्म के लिए ओपन करेंगे।अभी आने वाले कुछ सालों के अंदर स्पेस में अपने कुछ और मॉड्यूल भेजे वाले है जब यह पूरा तैयार हो जाएगा तो यह स्पेस टूरिज्म भी वहा पर करवाएंगे और इनका स्पेस टूरिज्म यूएस के मुकाबले मे काफी ज्यादा सस्ता होगा।

5 ) कर्नाटक के एक व्यक्ति को ट्रेन हाइजैक हो चुकी है 

दोस्तों हम ट्विटर को उस तरीके से यूज नहीं करते है जैसे बाकी लोग करते है जैसे कि किसी की कंप्लेंट करनी हो या कुछ गलत हो रहा है तब हम वीडियो बना कर कंप्लेंट कर सकते है।यही पर कर्नाटक के एक व्यक्ति ने सेम यही चीज करी है दरअसल कर्नाटक संपर्क क्रांति एक्सप्रेस में जा रहा था अब उस ट्रेन ने अपना रूट चेंज कर लिया इसको लगा कि ट्रेन हाईजैक हो चुकी है जिसके बाद में इसने ट्विटर में मेसेज कर दिया हमारी ट्रेन हाईजैक हो चुकी है हमारी हेल्प करो और वहीं पर इसको रिप्लाई मिलता है ट्रेन हाइजैक नहीं हुई बल्कि ट्रेन को डायवर्ट किया गया है।

6 ) क्या आपने किसी को बाइक चलाते वक्त लेपटॉप चलाते हुए देखा है?

दोस्तों अब बाइकर्स अलग लेवल पर ही जा चुके हैं जहां पर आपने देखा होगा कि वह फोन पर बात करते-करते भी बाइक चला लेते हैं और स्कूटी चला लेते ।स्कूटी तो नॉर्मल होती लेकिन बाइक में क्लच का सिस्टम होता हैं।दरअसल बेंगलुरु का एक व्यक्ति फोन नहीं बल्कि लैपटॉप चलाता है।यह अजीब सा सीन है जहां पर इसकी कंप्लेंट भी की गई थी कि रोड पर ऐसा नहीं होना चाहिए क्योंकि यह अपने साथ-साथ दूसरों की जान के लिए भी खतरनाक हो सकता है।

7 ) इंडिया में भी अब राइट टू रिपेयर प्रोग्राम लागू होगा

दोस्तों राइट टू रिपेयर प्रोग्राम ( Right to Repair Program )के बारे में तो आप अच्छे से जानते होंगे जिस पर यूके, यूरोप और यूएस के अंदर काफी ज्यादा चर्चा हुई थी जिसके बाद में अभी यह उन देशों में लागू हो चुका है ।लेकिन इंडिया के अंदर भी यह बहुत जल्द शुरू हो सकता है जैसे मान लीजिए आपने कोई मोबाइल फोन लिया अगर आपका फोन खराब हो जाए तो उसे रिपेयर करने के लिए आप अपने आस-पास के सर्विस सेंटर में ही जाओगे लेकिन अगर आपकी सिटी के अंदर सर्विस सेंटर मौजूद ना होकर वह किसी दूसरी सिटी के अंदर है जो कि 200-300 किलोमीटर दूर है। आप इतनी दूर जाओगे और फिर आपको कहा जाए आज नहीं होगा कल आना तो इस तरीके की चीज़ें ना हो इसलिए आप थर्ड पार्टी के पास भी जा सकते हो इस तरह से आपकी वॉरेंटी भी अवॉइड नहीं होगी। पहले क्या होता था अगर एक बार वॉरेंटी निकल जाती थी तब उस चीज़ को आप ठीक नहीं करवा सकते थे।और अगर अपने वॉरेंटी रहते उस फोन का स्टिकर भी निकाला तो वो उसको रिपेयर करने से साफ साफ मना कर देते थे तो इस तरीके की चीज़ें ना हो उसके ऊपर भी काम किया जाएगा इंडिया के अंदर ।

8 ) इंटेल ने अपने कॉम्पोनेंट्स के प्राइस बढ़ा दिए 

दोस्तों बहुत सारे गेमर इस इंतजार में थे कि इंटेल के जो जीपीयू आएंगे उनके प्राइसेस कम हो जाएंगे ।लेकिन यहां पर इंटेल प्राइज बढ़ाने वाला है चाहे वह पीसी के कॉम्पोनेंट्स हो या फिर प्रोसेसर के हो।इस साल के अंत तक वह 10% से 20% तक प्राइसेस बढ़ा सकता है जिसकी वजह से लैपटॉप और पीसी भी महंगे होने वाले है। दरअसल बात यह है कि इनके कंपोनेंट्स की डिमांड कम होती जा रही है जिसकी वजह से इनके सेल ड्रॉप हो रहे है इसीलिए यह कंपोनेंट्स के प्राइसेस बढ़ा रहे है।

9 ) नेटफ्लिक्स ने माइक्रोसॉफ्ट के साथ किया पार्टनरशिप 

दोस्तों नेटफ्लिक्स ने माइक्रोसॉफ्ट के साथ पार्टरनशिप कर ली है जिससे कि आपको आने वाले टाइम में शायद नेटफ्लिक्स के चीपर प्लान मिल सकता हैं लेकिन उसके अंदर ऐड काफी ज्यादा आएंगे और शायद फ्री के प्लान भी हो जाए जिसमें आपको ज्यादातर ऐड ही देखने को मिलेगी। नेटफ्लिक्स ऐसा इसीलिए कर रहा है क्योंकि यह कई सालों से काफी घाटे में चल रहा है इनको पहले जितना प्रॉफिट होता था अब उतना नहीं हो रहा है। पहले ज्यादातर लोग नेटफ्लिक्स पर ही वेब सीरिज देखते थे लेकिन अब इतने सारे प्लेटफार्म क्रिएट हो चुके हैं जिसकी वजह से अब इनकी इनकम का डिस्ट्रीब्यूशन हो गया है । 

Leave a Comment