पहली बार इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन ने स्पेस में 78 kg का गार्बेज बैग फेंककर किया टेस्ट

1 ) पहली बार इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन ने स्पेस में 78 kg का गार्बेज बैग फेंककर किया टेस्ट

दोस्तों इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन ( International Space Station ) ने पहली बार एक ऐसी वीडियो रिलीज की हैं जिसमें वह अपना कूड़ा कचरा स्पेस में फेंक रहे हैं। यहां पर इन्होंने करीबन 78kg का गार्बेज बैग स्पेस में फेंका है जिसके अंदर इनके स्पेस में यूज की हुई चीज़ें होंगी।यह गार्बेज धरती के वायुमंडल में आने से पहले ही जलकर खाख हो जायेंगे और इसी के साथ साथ यह अपना वेस्ट मटेरियल भी स्पेस में फेंकते है जोकि कई बार आपको टूटता हुआ तारा लग सकता है लेकिन यह तारा नहीं होता।

2) जोमैटो और स्विगी के ऊपर गवर्न्टमेंट को जरुरी एक्शन लेना चाहिए

दोस्तों आप सभी ने Zomato और Swiggy ऐप तो यूज किया ही होगा जहां पर पहले आपको अच्छा डिस्काउंट भी मिलता था। पहले आप रेस्टोरेंट में जाकर खाने की बजाय घर बैठकर अच्छा खासा पैसा बचा लेते थे लेकिन अब वह बात रही नहीं है । यही पर मुम्बई के एक व्यक्ति ने ट्विट पर ऑफलाइन फुड और जोमैटो से ऑर्डर किए गए फूड को कंपेयर किया है। अगर आप कोई फूड ऑनलाइन ऑर्डर करते हो तो वह आपको ₹690 का मिलेगा और वही पर अगर आप उसे रेस्टोरेंट में जाकर लेते हो तो वह आपको ₹512 का मिलेगा चाहें रेस्टोरेंट आपके घर से एक किलोमीटर दूर भी क्यों न हो फिर भी वो ज्यादा चार्ज करते है।अब जोमैटो में पहले जैसी सर्विस रही नहीं है जैसे पहले हुआ करती थी और अब यह सिर्फ कमाने के लिए ही बैठे हुए है। अब इनके अंदर लगभग 100 % वाला मार्जिन आ जाता है और कई डिलीवरी के अंदर कोई भी फिक्स चार्जेस नहीं होते ।इस ट्विटर यूजर का मानना है कि गवर्नमेंट को इनके ऊपर कुछ एक्शन लेना चाहिए।

3) रॉकेट लैब ने किया अनाउंस : अगले दिन ही आपका सैटेलाइट स्पेस में लॉन्च कर देगा

दोस्तों अगर आप एमेजॉन की प्राइम मेंबर होंगे तो आपको अगले दिन ही डिलीवरी का ऑप्शन भी मिल जाता होगा जैसे आपने आज ऑर्डर किया और कल आपका प्रोडक्ट आपके घर पर पहुंच जाएगा । इसी तरह की स्कीम अब रॉकेट लैब ने भी अनाउंस कर दिया है जहां पर अगर कोई व्यक्ति अपनी सैटेलाइट इनके लॉन्चिंग साइड तक पहुंचा देगा तो उसको 24 घंटे के अंदर ही स्पेस में लॉन्च कर देंगे।जिस तरीके से एमेजॉन के प्राइम मेंबरशिप के लिए आपको पेमेंट करना होता है तो इसी तरह से आपको इसकी मेंबरशिप लेने के लिए प्रीमियम प्राइस पे करना होगा। अगर आपको अपना सैटेलाइट जल्दी से लॉन्च करवाना है तो आपको प्रीमियम प्राइस देना होगा और अगले दिन ही आपका सैटेलाइट स्पेस में लॉन्च हो जाएगा।

4 ) चीन ने बनाया ड्रैग सेल टेक्नोलोजी जो सैटेलाइट को ड्रैग करेगी

दोस्तों अभी तक स्पेस में 8950 सेटेलाइटस भेजे गए है जिसमें से करीबन 5000 ऐसे है जोकि आने वाले वक्त में शायद काम करना ही बंद कर दें क्योंकि उनका लाइव टाइम पूरा हो चुका है। अब इसी के साथ यह भी कहा जा रहा है कि 2000 सेटेलाइटस ऐसे होंगे जो काम करते हुए नजर आएंगे और बाकी के सब खराब हो जायेंगे तो इससे क्या होगा कि स्पेस डिग्री बढ़ेंगी , स्पेस का कूड़ा बढ़ेगा और बाकी सैटेलाइट्स को दिक्कत आएगी तो चीन ने यहां पर एक टेक्नोलॉजी डेवलप किया है जिसको ड्रैग सेल ( Drag Sail )कहा जा रहा है और इसका एक्सपेरिमेंट भी इन्होंने करके देख लिया है जो कि सफल रहा है। यह करीबन 25 sq मीटर की पतंग टाइप की कोई चीज है जो किसी डेड सेटेलाइट के ऊपर ड्रैग करेगी।

5 ) लड़की ने अपने बॉयफ्रेंड को किडनी डोनेट किया, किडनी मिलने के बाद बॉयफ्रेंड उसे ही चीट करके भाग गया

दोस्तों आजकल का प्यार उस तरीके का नहीं रहा जैसे पहले हुआ करता था। लोग प्यार में दिल दे बैठते है लेकिन आजकल के लोग किडनी दे बैठते है। दरअसल एक महिला ने अपने बॉयफ्रेंड को किडनी डोनेट करी क्योंकि उसकी किडनी की हालत काफी ज्यादा खराब हो चुकी थी। वह सिर्फ 5% पर ही काम करती थी जिसकी वजह से उसने कहा कि मैं ज्यादा रिस्क नहीं लूंगी और उसने अपनी किडनी उसको डोनेट कर दी।किडनी डोनेट करने के बाद उसने अपनी गर्लफ्रेंड को चीट किया और उसको छोड़ कर भाग गया दोस्तों आजकल के प्यार का कुछ पता नहीं है एक तो ब्रेकअप का भार और ऊपर से किडनी जाने का दुख अलग से हुआ।

6 ) ट्विटर ने किया खुलासा: कैसे भारत सरकार अपनी पावर का गलत इस्तेमाल कर रही है?

दोस्तों ट्विटर ने हाई कोर्ट में जाकर इस बात का खुलासा किया है कि इंडियन गवर्नमेंट अपनी पावर का मिस यूज कर रही है। वह बिना कोई कारण बताए कभी भी किसी भी यूजर का ट्विटर अकाउंट डिलीट करवा रहे है। उन्होंने बताया कि 2021 से लेकर 2022 तक सरकार ने करीबन 14,00 अकाउंट को डिसेबल करने को कहा था और जब ट्विटर ने इसका कारण पूछा तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया । पहले तो 40-50 अकाउंट हुआ करते थे लेकिन अब धीरे-धीरे करके इनकी डिमांड बढ़ती ही जा रही थी इसीलिए अंत में ट्विटर को हाईकोर्ट में जाने के लिए मजबूर होना पड़ा।

7 ) वीवो ने किया 62000 करोड़ रुपए की टैक्स चोरी जिसकी वजह से वीवो के ब्रांड एंबेसडर विराट कोहली की भी कड़ी आलोचना हो रही हैं

दोस्तों वीवो के ऊपर मनी लॉन्ड्रिंग और टैक्स चोरी के कई सारे चार्जस भी लगे हुए है जहां पर उन्होंने 62000 करोड़ रुपए चीन को भेजा था। अब यहां सवाल यह आता है कि अगर उन्होने पैसे चीन को भेजे है तो उसमें इंडिया का टैक्स कहां से बच गया ? दोस्तों यह कंपनी वाले अपना इतना ज्यादा खर्चा दिखा देते है ताकि यह टैक्स से बच सके और यहां तो वीवो ने सारा का सारा टैक्स ही बचा लिया

इसी के साथ साथ लोग अब विराट कोहली की भी कड़ी आलोचना कर रहे है क्योंकि वह वीवो के ब्रांड एंबेसडर है जो इस तरह की कंपनी के प्रॉडक्ट को प्रोमोट करते है।फिलहाल के लिए विराट कोहली की ऐड को ही बंद कर दिया गया है ताकि विराट कोहली की इमेज को बचाया जा सके ।

8 ) नासा ने एक स्टडी पब्लिश की है : प्लेनेट मिट्टी के बादल के ही क्यों होते है?

दोस्तों नासा की एक नई स्टडी पब्लिश हुई है जिसके अंदर उन्होंने बताया है कि कई सारे प्लेनेट मिट्टी के बादल के क्यों होते हैं? जेम्स के बादल के क्यों होते? डायमंड के बादल के क्यों बने हुए होते हैं? क्योंकि वह अमोनिया और अमोनियम हाइड्रोसल्फाइड के बने होंगे जिसकी वजह से वहां पर सिलिकेट के बादल बनते हैं । जैसे धरती पर बदल बनते है वैसे ही प्लेनेट पर बनते है। कोई भी मटेरियल हो पहले तो हीट पड़ेगी, भाप बनेगी, इसी तरीके का ही प्रोसीजर रहता है चाहे वॉटर हो, अमोनिया हो या फिर कोई और चीज हो। कई सारे ऐसे प्लेनेट भी होते है जहां पर डायमंड की भी बारिश होती हैं ।

Leave a Comment