एलोन मस्क की न्यूरालिंक कॉर्पोरेशन अब Federal Investigation के अंदर हैं

दोस्तों आप सभी को मालूम है कि एलोन मस्क की न्यूरालिंक कॉर्पोरेशन पिछले 6 सालों से एक ब्रेन इंप्लांट चिप डेवलप कर रही हैं , यह चिप उन लोगों के लिए बनाया जा रहा है जो पैरालाइज्ड है , यह चिप ब्रेन की एक्टिविटी को रीड और रिकॉर्ड कर सकता है । फिलहाल अभी जानवरों पर इसका एक्सपेरिमेंट किया जा रहा है और जब यह चिप डेवलप हो जायेगी तो यह पैरालाइज्ड लोगों को कम्युनिकेट करने में हेल्प करेगी यानी की आप डायरेक्टली कंप्यूटर और मोबाइल से कम्युनिकेट कर सकते हैं । अब FDA ने भी इसका अप्रूवल दे दिया है कि आने वाले 6 महीनों के अंदर ही इस चिप को किसी इंसान के अंदर ट्रांसप्लांट किया जा सकता हैं । लेकिन यहां पर न्यूरालिंक कम्पनी के ऊपर , जिसमें एलोन मस्क भी शामिल है , कई सारे इन्वेस्टीगेशन चल रहे है क्योंकि इस बार इन्होंने किसी एम्प्लॉय को नहीं बल्कि जानवर को परेशान किया हैं । इस एक्सपेरिमेंट में कई सारे जानवर मारे गए है और अभी तक जो अंदाज़ा लगाया गया है वो करीबन 1500 का है लेकिन कई सारे ऑर्गनाइजेशन का कहना है कि इन्होंने अपने इस एक्सपेरिमेंट में करीबन 2800 जानवरों की बलि चढ़ाई हैं । हालांकि एलोन मस्क का कहना है कि इस चिप को अपने ब्रेन के अंदर इंप्लांट करने में मुझे कोई दिक्कत नहीं है लेकिन एलोन मस्क ट्विटर के ऊपर ऐसी बहुत सी बातें करते है और यह भी उसमें से एक हैं ।

अब न्यूरालिंक के ऊपर Federal Investigation शुरु हो चुकी है जिसमें एलोन मस्क भी रडार के घेरे में है क्योंकि वह अपने स्टाफ के साथ जिस तरीके से काम करवा रहे है वो आपको भी पता होगा ।ट्विटर के अंदर इन्होंने अपने सभी एम्पलॉयज को एक Deadline दे दी कि इस काम को इतने टाइम में करना है , आपको हफ्ते में कम से कम इतने घंटे काम करना होगा तो इस तरह से स्टाफ के ऊपर काफी ज्यादा प्रेशर डाला गया । अब इसी तरह का वर्क प्रेशर इन्होंने न्यूरालिंक स्टाफ के ऊपर भी डाला है और न्यूरालिंक के ऊपर भी अब इन्वेस्टीगेशन चल रही हैं ।अब बहुत सारे मीडिया हाउस भी कंपनी के डॉक्यूमेंट को रिव्यू कर रहे हैं और उनके ऑपरेशन को देख रहे है । न्यूरालिंक के इंटरनल स्टाफ का कहना है कि यहां पर जल्दबाजी दिखाई जा रही है जिसकी वजह से इतने सारे जानवरों की मौत हुई है । अब एलोन मस्क ने तो यह भी कह दिया है कि आने वाले 6 महीनों के अंदर ही हम इस प्रॉजेक्ट को पूरा करके दिखायेंगे  लेकिनइस काम का सारा प्रेशर न्यूरालिंक के स्टाफ के ऊपर डाला जायेगा । इस प्रॉजेक्ट के ऊपर जितने भी स्टाफ काम कर रहे है उनके ऊपर काफी ज्यादा प्रेशर डाला जा रहा है जिसकी वजह से इन जानवरों के ऊपर बहुत से स्टफ एक्सपेरिमेंट चल रहे है । करीबन 20 Former Staff का कहना है कि फेल एक्सपेरिमेंट सिर्फ जल्दबाजी और तेजी दिखाने की वजह से हुए है और अगर इस एक्सपेरिमेंट को ढंग से किया जाए तो शायद अब तक इतने जानवरों की बलि नहीं चढ़ती ।


अब यहां पर सवाल यह उठता है कि इस एक्सपेरिमेंट के चलते इन्होंने 1500 जानवरों की बलि चढ़ा दी है हालांकि यह कोई रिकॉर्डेड नंबर नहीं है क्योंकि यह रिकॉर्ड नहीं रखते कि कितने जानवर मरे है और ऐसा भी माना जा रहा है कि शायद यह ज्यादा से ज्यादा 3000 भी हो सकते है । आने वाले वक्त में और कितने जानवर मरेंगे उनका भी कोई रिकॉर्ड नहीं है क्योंकि US Regulation ने कोई जवाब नहीं दिया है कि इस रिसर्च के अंदर और कितने जानवरों को मार सकते हैं । यहां पर जितने भी लोग जानवरों से प्यार करते है , इस वीडियो को देखकर शायद उनको दुख होगा जो शायद हम आपको दिखा भी नहीं सकते । इस वीडियो में Pigs ,  monkey , Rat , Rabbit ऐसे बहुत से जानवर है जिनके साथ कुछ इस तरीके के एक्सपेरिमेंट किए जा रहे है , जिसमें वो काफी ज्यादा दर्द में है और काफी ज्यादा स्ट्रगल कर रहे है और तड़पते हुए नजर आ रहे है कई सारी विडियो और फोटो के अंदर जो शायद कोई भी देख नहीं सकता है । अगर किसी बिजनेसमैन के नजरिए से देखा जाए तो यह एक्सपेरिमेंट बिल्कुल सही है । यहां पर एलोन मस्क के ऊपर काफी ज्यादा फाइनेंशियल प्रेशर डाला जा रहा है जिसकी वज़ह से वह जल्द से जल्द इस प्रॉडक्ट को मार्केट में लॉन्च करना चाहते हैं क्योंकि एलोन मस्क को सिर्फ बातें करते हुए 6 साल हो गए है लेकिन यह प्रॉडक्ट अभी तक नहीं बना हैं तो एलोन मस्क के लिए यह एक चैलेंज हैं ।

यहां पर अगर न्यूरालिंक के फॉर्मर एम्प्लॉय की ही माने तो स्टाफ पर काफी ज्यादा प्रेशर डाला जा रहा है और ऐसे एनवायरनमेंट के अंदर काम करना मुश्किल है । ह्यूमन एरर की वजह से भी यह एक्सपेरिमेंट फेल हो रहे है और जल्दबाजी की वजह से जानवरों की भी बलि चढ़ रही है । इनका बस एक टारगेट है कि किसी भी हालत में जल्द से जल्द यह प्रॉडक्ट मार्केट में लॉन्च करना हैं । इस एक्सपेरिमेंट को देखते हुए बहुत से Animal Welfare Organization , NGO और इसी के साथ-साथ Physicians Committee भी इनके खिलाफ़ हैं । अब यह सभी लोग कोर्ट गए है क्योंकि वो नहीं चाहते कि इस एक्सपेरिमेंट में अब और जानवरों की बलि चढ़े

हम मानते है कि इस तरह के एक्सपेरिमेंट शुरू-शुरू में जानवरों पर किए जाते हैं और उसके बाद इंसानों पर किए जाते है । हालांकि यह एक्सपेरिमेंट इंसानों की हेल्थ के लिए किए जा रहे है लेकिन इस एक्सपेरिमेंट में और कितने मासूम जानवर मारे जायेंगे उसका भी कोई अंदाजा नहीं है । अब कंपनी से एक एस्टीमेट मांगा गया है कि इस एक्सपेरिमेंट में और कितने जानवर मारे जायेंगे ? अब यहां पर कहा जा रहा है कि इन जानवरों की हत्या के लिए एलोन मस्क को अरेस्ट किया जाना चाहिए , इनको सजा होनी चाहिए । खैर यह वक्त ही बताएगा कि कोर्ट क्या डिसाइड करता है लेकिन अगर देखा जाए तो अमेरिका में Pigs को खाना एक आम बात है तो हमें नहीं लगता कि एलोन मस्क को कड़ी सजा होगी लेकिन हां Animal Welfare Organization और NGO इनको कोर्ट जरूर लेकर जाएगी ।

Leave a Comment